श्री गुरु ग्रंथ साहिब, प्राण संगली, जनम सखी भाई वाले वाली में से सतनाम का  तथा गुरु नानक देव जी के गुरु के बारे में तत्वज्ञान। 

Yajur Veda