sant-rampal-ji

जब किसी को आशीर्वाद या बद्दुआ देते हैं, तो हम अपनी भक्ति की कमाई से वंचित हो जाते हैं, जो इसके परिणामस्वरूप समाप्त हो जाती है और बाद में हमारे लिए हानिकारक हो जाती है। गुड मॉर्निंग, गुड नाईट आदि की शुभकामनाएं जैसी साधारण बातें भी भक्ति की संचित कमाई को खा जाती है और वास्तव में हानिकारक है। कृपया नीचे दिया गया वीडियो देखें जिसमे संत रामपाल जी बताते हैं कि दूसरों को आशीर्वाद या बद्दुआ देना बुरी बात है।