• en क्या पाण्डव सदा स्वर्ग में ही रहेंगे?

    धर्मदास जी ने कबीर परमेश्वर जी के चरण पकड़ कर अति विनम्र होकर आधीन भाव से प्रश्न किया। प्रश्नः- हे बन्दी छोड़ कबीर परमेश्वर जी! क्या पाण्डव अब सदा स्वर्ग में...