Adhyatm Gyan Ka Gola | अध्यात्म ज्ञान का गोला

अध्यात्म ज्ञान रूपी तोब का गोला कबीर और ज्ञान सब ज्ञानड़ी, कबीर ज्ञान सो ज्ञान। जैसे गोला तोब का, करता चले मैदान।। अर्थात् जैसा कि वेदों में प्रमाण है कि परमात्मा पृथ्वी पर प्रकट होकर यथार्थ अध्यात्म ज्ञान स्वयं अपने मुख से बोली वाणी में बताता है जो सूक्ष्मवेद यानि तत्वज्ञान कहा जाता है। कबीर जुलाहा पूर्ण परमात्मा है। उन्होंने जो आध्यात्मिक ज्ञान [...] Read more

अंध श्रद्धा भक्ति - खतरा-ए-जान | Andh Shradha Bhakti

अंध श्रद्धा का अर्थ है बिना विचार-विवेक के किसी भी प्रभु में आस्था करके उसे प्राप्ति की तड़फ में पूजा में लीन हो जाना। फिर अपनी साधना से हटकर शास्त्रा प्रमाणित भक्ति को भी स्वीकार न करना। दूसरे शब्दों में प्रभु भक्ति में अंधविश्वास को ही आधार मानना। जो ज्ञान शास्त्रों के अनुसार नहीं होता, उसको सुन-सुनाकर उसी के आधार से साधना करते रहना। वह साधना जो [...] Read more

जीने की राह | Jeene Ki Rah

जीने की राह पुस्तक घर-घर में रखने योग्य है। इसके पढ़ने तथा अमल करने से लोक तथा परलोक दोनों में सुखी रहोगे। पापों से बचोगे, घर की कलह समाप्त हो जाएगी। बहू-बेटे अपने माता-पिता की विशेष सेवा किया करेंगे। घर में परमात्मा का निवास होगा। भूत-प्रेत, पित्तर-भैरव-बेताल जैसी आत्माऐं उस परिवार के आसपास नहीं आएंगी। देवता उस भक्त परिवार की सुरक्षा करते हैं। [...] Read more